Think And Grow Rich Summary In Hindi

नमस्कार मेरे प्यारे लोगों, इस लेख में मैं आपको नेपोलियन हिल की पुस्तक “थिंक एंड ग्रो रिच” का सारांश Think And Grow Rich summary in Hindi प्रदान करूंगा।

लेखक के बारे में

 

ओलिवर नेपोलियन हिल एक अमेरिकी लेखक थे। उन्होंने मुख्य रूप से स्वयं सहायता पुस्तकें लिखीं। उन्होंने अपने सभी ज्ञान के साथ समाज की मदद करने का इरादा रखा। “थिंक एंड ग्रो रिच” पुस्तक को उनकी सर्वश्रेष्ठ कृतियों में से एक माना जाता है।

उन्होंने समर्पित रूप से व्यावसायिक पत्रिकाओं पर रिसर्च किया। उन्हें सर्वश्रेष्ठ अमेरिकी उद्योगपति एंड्रयू कार्नेगी का साक्षात्कार करने का अवसर मिला।

इस साक्षात्कार के दौरान उन्हें मानव मन के कुछ सिद्धांतों और प्रत्येक मनुष्य की अविश्वसनीय शक्ति के बारे में पता चला।

उन्होंने हमें बेहतर विकसित करने में मदद करने के लिए अपने स्वयं के अनुभव के साथ सूचीबद्ध किया।

 

परिचय

 

पुस्तक मूल रूप से बताती है कि हम अपने लक्ष्य तक पहुँचने के लिए अपने दिमाग को कैसे तैयार कर सकते हैं। 

यह पुस्तक कोई ऐसी पुस्तक नहीं है जो धनवान बनने के लिए आपकी व्यावसायिक नीतियों का सुझाव देती है, बल्कि आपको एक सोच तैयार करने में मदद करती है। 

यह कहता है कि एक बार जब हम अपने लक्ष्य के बारे में स्पष्ट हो जाते हैं तो हम उस मुकाम तक पहुंच सकते हैं। 

पैसा कमाना विचारों का खेल है और ये विचार भीतर से आते हैं। अगर हम अपने इरादे को अपने दिमाग में गहराई से बिठायें, तो विचारों को प्राप्त करना आसान हो जाता है।

लेखक ने यह पता लगाने के लिए बहुत रीसर्च किया कि कैसे विचार और मस्तिष्क हमें मानसिक और वित्तीय संतुष्टि दोनों लाने में मदद करते हैं। यह पुस्तक उद्यमियों और निवेशकों के लिए एक महान स्व-सहायता पुस्तक है। 

पुस्तक से शिक्षा :

 

यह पुस्तक यह नहीं सिखाती है कि धन को कैसे बढ़ाया जाए। इसके बजाय यह हमें एक बेहतर व्यक्तित्व विकसित करना सिखाता है। उत्पादक तरीके से सोचने के लिए। यह अमीर बनने के लिए लेखक के दर्शन से संबंधित है।

लेखक का कहना है कि हम अपने भाग्य से बने हैं। हमारे कर्म ही हमारी नियति तय करते हैं। उनका कहना है कि जैसे कप्तान जहाज को नियंत्रित करता है, वैसे ही हम अपने जीवन को नियंत्रित करते हैं। 

एक बार हम एक सफल करियर बनाना चाहते हैं और आर्थिक रूप से मजबूत होना चाहते हैं। हमें मजबूत इच्छाशक्ति की जरूरत है। साथ ही इसे हकीकत में बदलने के लिए कड़ी मेहनत की भी।  

हमारे विचार और योजनाएं सुव्यवस्थित होनी चाहिए। हमारे लक्ष्य हमारे दिमाग के सबसे ऊपर होने चाहिए। 

अगर हम अपने कार्यों के प्रति दृढ़ हैं तो हमें सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।

सबसे पहले, हमें यह स्पष्ट होना चाहिए कि हम क्या करना चाहते हैं। किस तरह का काम हमें संतुष्ट करता है?

आप जो करना पसंद करते हैं उसके बारे में स्पष्ट होना जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि एक बार जब आप अपनी नौकरी से प्यार कर लेते हैं तो कड़ी मेहनत करना आसान हो जाता है।

आशावाद हमेशा सफलता की कुंजी है। कुछ करने के तरीके के बारे में सोचना बंद करके रास्ता बनाने की और काम करना चाहिए। 

हर दिन हमें थोड़ी अधिक मेहनत और अधिक जोश के साथ काम करने की कोशिश करनी चाहिए। 

हार मानने जैसे निराशावादी विचार कभी सफलता नहीं दिला सकते। हम हर दिन असफल हो सकते हैं और इससे सीख सकते हैं। हमें और कठिन प्रयास करते रहना चाहिए।

पुस्तक को अध्यायों में विभाजित किया गया है जिससे प्रत्येक चरण को समझना आसान हो जाता है। 

 

इच्छा: सभी उपलब्धियों का प्रारंभिक बिंदु

 

व्यक्ति के भीतर बहुत प्रबल इच्छा होनी चाहिए।

सफलता की ओर पहला कदम एक समृद्ध लक्ष्य की कामना करना है। इच्छा हमें हर दिन कड़ी मेहनत करने की शक्ति देती है।

इच्छा मुख्य रूप से दो प्रकार से कार्य करती है। सफलता के बाद की जिंदगी इतनी आकर्षक होती है कि हम मजबूर होकर काम करने को मजबूर हो जाते हैं।

दूसरा तरीका यह हो सकता है कि असफलता वाला जीवन इतना भयानक होता है कि व्यक्ति डर के मारे कड़ी मेहनत करता है।

हमारी इच्छा के इन पांच क्षेत्रों को पूरा करने के लिए हमारे पास नीचे दी गई मानसिकता होनी चाहिए: 

Think And Grow Rich Summary In Hindi

करियर

 

अमीर होने के लिए हमारे करियर की बृद्धि स्पष्ट रूप से आवश्यक है। हमारे आगे बढ़ने के लिए कौन से अवसर आएंगे, सिर्फ ये सोचना कोई तरीका नहीं है। 

हमें सोचना चाहिए कि अवसर कैसे आएंगे। तदनुसार, हमारे करियर के विकास की दिशा में काम करनी चाहिये । 

अधिक बढ़ने के अवसर पैदा करना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

 

नेतृत्व

 

नेतृत्व एक बहुत ही कठिन कौशल है क्योंकि हमें टीम के सदस्यों के साथ-साथ अपने लिए भी काम करने की आवश्यकता होती है।

हम अपनी टीम के मौजूदा नेता से यह सीखते हैं। कैसे वह हमारी निर्भरता को हल करता है और अपने काम को भी प्रगति पर रखता है।

नेतृत्व एक कौशल है और इसे उच्च क्षमता के साथ प्राप्त किया जाना चाहिए। इस कौशल के लिए समय प्रबंधन में अच्छा होना आवश्यक है। 

 

पैसा

 

हमें पता होना चाहिए कि किस काम के लिए हमें कितनी रकम देनी है। हमारे पास एक स्पष्ट विचार होना चाहिए कि किस काम से कितना पैसा मिलता है।

एक बार जब हम जान जाते हैं कि हमें कौन सा काम करना है, हमें लक्ष्य के लिए एक योजना और एक तिथि निर्धारित करने की आवश्यकता है।

लेखक ने हमें पैसे और आवश्यक कड़ी मेहनत के बारे में सारी जानकारी लिखने के लिए कहा। वह यह भी चाहता है कि हम अपनी योजना लिख ​​लें। फिर दिन में दो बार पेपर पढ़ें।

लिखना और फिर पढ़ना हमें हमारी योजना का एक सटीक विचार देता है और इसे कैसे कार्यान्वित किया जाता है। 

 

असफलता

 

कई लोगों के लिए आसानी से हार मानना एक साधारण सी बात है।  

हमें हमेशा अपनी असफलताओं से सीखने का प्रयास करना चाहिए। असफलता क्यों आई, इस बारे में नकारात्मक सोचना बहुत आसान है। लेकिन हमने क्या गलती की है यह पता लगाना सीखना मुश्किल है।

हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हम वही गलती न दोहराएं और आगे बढ़ते रहें।

 

अन्य लोगों की इच्छा :

 

आपकी कंपनी और नेताओं की इच्छा जानना बहुत महत्वपूर्ण है। जैसे ही हम उनकी इच्छा को जान लेते हैं, हम उस दिशा में काम कर सकते हैं।

जिन लोगों के लिए हम काम करते हैं उनके लिए सफलता लाना व्यक्तिगत सफलता भी लाता है।

 

आस्था : कल्पना और इच्छा की प्राप्ति में विश्वास

 

हम जो कुछ भी करते हैं उसके लिए खुद पर विश्वास बहुत जरूरी है। हमें हमेशा यह विश्वास रखना चाहिए कि एक न एक दिन हम अपने लक्ष्य तक जरूर पहुंचेंगे।

विश्वास वह सकारात्मक गुण है जो हमें काम करवाता रहता है। अपनी क्षमताओं पर विश्वास एक प्रेरणा की तरह है जो हमें और अधिक मेहनत करने के लिए प्रेरित करता है।

किसी भी कार्य को करने के लिए हमारा दृढ़ विश्वास होना चाहिए कि हम उसे कर सकते हैं, यह बहुत महत्वपूर्ण है।

अपने अवचेतन मन को बार-बार यह बताना कि हम सफल हो सकते हैं, स्वयं के भीतर विश्वास पैदा कर सकता है।

हम अपने भीतर विश्वास जगाने के लिए एक पेपर में लिख सकते हैं और इसे हर दिन पढ़ सकते हैं।

हमें कभी भी आत्म-संदेह नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे असफलता और यहाँ तक कि आशा की हानि भी हो सकती है।

विश्वास आत्मविश्वास लाता है और इस प्रकार दूसरों को हम पर विश्वास दिला सकते है । एक बार जब हम खुद पर विश्वास करने लगते हैं तो यह दूसरों को अपनी ओर खींच लाता है। 

हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हम सभी में वह क्षमता है जो हम चाहते हैं। हमें खुद से वादा करना चाहिए कि हम अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे। हमें अपने विचारों के बारे में स्पष्ट होना चाहिए। यह भी विश्वास रखें कि यह भौतिक वास्तविकता में बदल जाएगा।

हमें कोशिश करना कभी नहीं छोड़ना चाहिए और अपने काम को उचित समय देना चाहिए। हमें अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए भी समय देना चाहिए।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हमारा अंतिम मकसद सभी की भलाई के लिए होना चाहिए। अगर हम दूसरों का भला करेंगे तो सब हमारा भला ही करेंगे।

 

अवचेतन को प्रभावित करने का माध्यम

 

हमारे अवचेतन मन पर पूर्ण नियंत्रण सबसे आवश्यक है। हमारे अवचेतन मन को हमें नकारात्मक विचारों की ओर नहीं ले जाना चाहिए।

सफल होने के लिए अपने आत्मविश्वास को बनाए रखना आवश्यक है। हमें अपने अवचेतन मन को प्रेरित करने के लिए प्रशिक्षण देते रहना चाहिए। हमें अपने कार्यों और निर्णयों पर भी पूर्ण नियंत्रण रखना चाहिए।

 

विशिष्ट ज्ञान- व्यक्तिगत अनुभव या अवलोकन

 

हर क्षेत्र में अधूरा ज्ञान होना किसी काम का नहीं। उत्पादक होने के लिए हमें सबसे पहले उस विशेष क्षेत्र के बारे में बुनियादी ज्ञान हासिल करना होगा जिसमें हम रुचि रखते हैं।

शुरुआत में पेशेवर ज्ञान हासिल करना जरूरी नहीं है। ज्ञान को समृद्ध करने के लिए पाठ्यक्रम, सेमिनार और कई अन्य तरीके हैं।

हमें यह समझना चाहिए कि एक बार जब हम धन प्राप्त करने के लिए अपने ज्ञान का उपयोग करना चाहते हैं तो यह सर्वोत्तम गुणवत्ता का होना चाहिए। हमें अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए भी सीखते रहना चाहिए।

 

कल्पना-मन की कार्यशाला

 

किसी वस्तु की कल्पना करना हमारे अवचेतन मन को उसकी एक तस्वीर देना मात्र है। यदि यह चित्र आकर्षक है और हमें प्रसन्न करता है तो हमारा अवचेतन मन स्वयं ही हमें उस चित्र की प्राप्ति के लिए तैयार कर देता है।

हम कुछ भी तभी हासिल कर सकते हैं जब वह हमारे अवचेतन मन में गहराई से बैठ जाए। एक बार जब हम अपनी इच्छाओं और विचारों की कल्पना करते हैं, यह हमारी आत्मा तक पहुंचता है।

कल्पना को प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है:

 

सिंथेटिक कल्पना:

पुरानी योजनाओं को बदलना जिससे विफलता हुई – इस प्रकार की कल्पना हमें अपनी असफलताओं से सीखने में मदद करती है।

रचनात्मक कल्पना:

यह कल्पना भविष्य के लिए एक नई रचनात्मक योजना बनाने के बारे में है। हम अपने काम को बेहतर बनाने के लिए और अधिक रचनात्मक विचारों के बारे में सोच सकते हैं।

 

संगठित योजना

 

सफलता के लिए सिर्फ आत्मविश्वास होना ही काफी है। एक अच्छी योजना के साथ क्रियान्वित होने पर ही ये विशेषताएँ हमें सफलता दिला सकती हैं।

योजना बनाना हमारे काम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। जैसा कि इसके बाद सब कुछ योजना के अनुसार होगा। हमें सभी पेशेवरों और विपक्षों को ध्यान में रखते हुए एक योजना बनानी चाहिए।

हमारे पास कभी भी एक महान योजना नहीं हो सकती है। एक अद्यतन योजना के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। हम वर्षों तक एक ही योजना पर निर्भर नहीं रह सकते।

हमें आपके काम को नवीनतम विवरणों के साथ अपडेट करने की आवश्यकता है।

हर असफलता के बाद योजना में बदलाव जरूरी है। हमें अपनी पुरानी योजना में समस्याओं का पता लगाने और उन्हें बेहतर बनाने का प्रयास करना चाहिए।

हमें कभी हार नहीं माननी चाहिए। हर बार एक बेहतर योजना के साथ प्रयास करें।

 

निर्णय – विलंब की महारत

 

प्रत्येक विफलता अधिकतम समय तब होती है जब हम उचित समय पर उचित निर्णय लेने में असमर्थ होते हैं। एक सफल व्यक्ति हर निर्णय सही समय पर लेकर अपने मुकाम तक पहुंचता है।

हमें पता होना चाहिए कि एक मजबूत और प्रभावी निर्णय कैसे लिया जाता है। हमारा निर्णय या तो असफलता का कारण बन सकता है या सफलता दिला सकता है।

हमें कभी भी दूसरों के फैसलों के बहकावे में नहीं आना चाहिए, बल्कि हमें अपना फैसला लेना चाहिए।

 

दृढ़ता-विश्वास को प्रेरित करने के लिए आवश्यक सतत प्रयास  

 

जीवन में कुछ भी करने के लिए हमें उसे किसी भी कारण से कभी नहीं छोड़ना चाहिए। असफलताओं का सामना करने के बाद लोग अक्सर काम छोड़ देते हैं।

जब हम अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर होते हैं तो असफलताएं हमेशा आती हैं। हमें कभी हार नहीं माननी चाहिए।

चाहे कितनी भी मुश्किल लगे हमें कभी हार नहीं माननी चाहिए, हमारे पास दृढ़ इच्छा शक्ति होनी चाहिए।

 

मास्टरमाइंड की शक्ति

 

मास्टरमाइंड बनाने का कारण ज्ञान को काम में बदलना है। मास्टरमाइंड वे हैं जो आपको योजना बनाने में मदद करते हैं।

हम सभी को सफल होने के लिए एक टीम की आवश्यकता होती है क्योंकि कोई भी अकेला सफल नहीं हो सकता है।

यदि एक टीम एक साथ आती है और प्रत्येक सदस्य के विचारों के साथ एक योजना बनाती है। यह सबसे अच्छा फल देता है।  क्योंकि यह हमेशा सच है कि हमारे पास जितने अधिक विचार होंगे, हम उतनी ही बेहतर योजना बनाएंगे।   

 

सेक्स के शक्ति का रचनात्मक तरीके से उपयोग :

 

सेक्स इंसान की सबसे मजबूत इच्छा में से एक है। सेक्स मानव सकारात्मकता को उत्तेजित करता है जो हमें एक बेहतर योजना बनाने में मदद करता है। 

यह हमें एक मजबूत इच्छाशक्ति रखने और अपने काम के लिए लगातार बने रहने में मदद करता है।

 सेक्स शारीरिक ऊर्जा को बढ़ाता है और हमें बेहतर विकास की ओर आगे ले जाने में मदद करता है।

अवचेतन मन – The Connecting Link

 

हिल कहते हैं कि हम सभी के पास एक सार्वभौमिक दिमाग है और उसके पास अनंत बुद्धि है। उनका कहना है कि हमारा अवचेतन मन हमारे मन के बीच इस सार्वभौमिक मन का संबंध है।

एक बार जब हम इस अनंत बुद्धि से जुड़ सकते हैं तो हम क्रांतिकारी योजना बनाने में सक्षम होंगे।

हमारे अवचेतन मन में हमारे छोटे-छोटे विचारों को क्रियाओं में बनाने की शक्ति होती है, इसलिए हमारे विचारों को उसमें प्रत्यारोपित करना महत्वपूर्ण है।

हमें अपने अवचेतन मन को आध्यात्मिक और शारीरिक रूप से उत्पादक बनाने में मदद करने के लिए सकारात्मक ऊर्जाओं का उपयोग करना चाहिए। सकारात्मक ऊर्जाओं की सूची नीचे दी गई है:

  •         प्यार
  •         आस्था
  •         ऊर्जावान
  •         इच्छा
  •         आशाएं
  •         रोमांस

ये सकारात्मक ऊर्जा हमारे निराशावादी विचारों पर हावी हैं। इसलिए हमारा अवचेतन मन हमें अनंत बुद्धि से जोड़ता है और हमें सर्वश्रेष्ठ बनाता है।

 

The Brain

 

मस्तिष्क की तुलना एक रेडियो स्टेशन से की जाती है जो बाहरी दुनिया से संकेत प्राप्त करता है। यह अवचेतन मन के माध्यम से संकेत भेजता है।

हमारे मस्तिष्क में हमारे आस-पास के कंपन को समझने और उसके अनुसार हमारे कार्यों को सिंक्रनाइज़ करने की क्षमता है। यह हमें रचनात्मक योजना बनाने में मदद करता है।

हिल इस बारे में बात करती है कि हम विभिन्न भावनाओं के माध्यम से संकेत को समझने के लिए अपने मस्तिष्क की क्षमता को कैसे बढ़ा सकते हैं।

लेकिन हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हम अपने भीतर कभी भी नकारात्मक स्पंदनों को प्रवेश नहीं करने देंगे।

 

छठी इंद्रिय-बुद्धि के मंदिर का द्वार

 

हमारी छठी इंद्रिय का विकास अंतिम चरण है क्योंकि यह तभी हो सकता है जब हम पहले बताए गए सभी 12 कौशलों में अच्छे हों।

छठी इंद्रिय और कुछ नहीं बल्कि अनंत बुद्धि के साथ हमारे अवचेतन मन का संबंध है।

हम इसे आध्यात्मिक रूप से ध्यान और धातु विकास के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

अपनी छठी इंद्रिय को क्रियाशील बनाने के लिए हमें निम्नलिखित से दूर रहना चाहिए:

  •         डर
  •         संदेह
  •         असमंजस   

 

निष्कर्ष

 

Think And Grow Rich Summary In Hindi हमें सफल होने के तरीके को दिखाने के लिए एक अध्याय के रूप में चरणों को सूचीबद्ध करती है। 

यदि कोई इस पुस्तक का अनुसरण करता है और उसके अनुसार कदम उठाता है, तो सफलता निश्चित रूप से आएगी।

अगर आप एक अच्छा करियर बनाना चाहते हैं और अमीर बनना चाहते हैं तो आप अपनी मदद के लिए इस किताब को पढ़ सकते हैं।

ये पढ़ना ना भूले :

The Artist Summary In Hindi

The Power Of Your Subconscious Mind Summary In Hindi | Apke avchetan man ki shakti

My Grandmother’s House Summary In Hindi & English (Full analysis)

A Letter To God Summary In Hindi

2 thoughts on “Think And Grow Rich Summary In Hindi”

Leave a Comment