The Tiger King Summary In Hindi

नमस्कार, मेरे प्यारे दोस्तों, आज मैं आपको “The Tiger King Summary In Hindi” प्रदान करने जा रहा हूँ। “द टाइगर किंग” रामास्वामी अय्यर कृष्णमूर्ति द्वारा लिखित एक लघु कहानी है। आशा है आपको पढ़ने में मज़ा आएगा। 

रामास्वामी अय्यर कृष्णमूर्ति

रामास्वामी अय्यर कृष्णमूर्ति का जन्म 9 सितंबर 1899 को हुआ था। वे तमिलनाडु में रहते थे। वह छद्म नाम कल्कि से प्रसिद्ध थे। वह एक लेखक, पत्रकार, कवि, समीक्षक और भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्होंने 120 से अधिक लघु कथाएँ, 10 उपन्यास, 5 नावेल, 3 ऐतिहासिक रोमांस और भी बहुत कुछ लिखा।

कहानी विषय : The Tiger King Summary In Hindi

कहानी दर्शाती है कि हम अपनी किस्मत बदलने में असमर्थ हैं। हम अपने भाग्य को बदलने के लिए बहुत कोशिश कर सकते हैं लेकिन कभी सफल नहीं हो सकते।

हम खुद को सबसे ताकतवर मान सकते हैं लेकिन हम अपने भाग्य को नियंत्रित नहीं कर सकते। भाग्य को बदलने की कोशिश करने के बजाय हमें मिलने वाले अवसरों का आनंद लेने चाहिए।

इस कहानी में आपको एक घमंडी राजा मिलता है जो अपने भाग्य को चुनौती देने की कोशिश करता है। वह अपने भाग्य पर विजय प्राप्त करने में विफल रहता है। इसके बजाय वह अपना जीवन उन वर्षों में जी सकता था जो उसने बर्बाद किए थे।

कहानी लोगों को उच्च पदों पर चित्रित करती है। यह दिखाता है कि वे चीजों को नियंत्रित करने के लिए कितने जिद्दी हो सकते हैं।

The Tiger King Summary In Hindi

राजा कि परिचय

कहानी का मुख्य पात्र राजा है। उन्हें “टाइगर किंग” के नाम से जाना जाता है। उसने प्रतिबंदपुरम नामक स्थान पर शासन किया। वह बहुत साहसी था और उसे अपनी शक्तियों पर दृढ़ विश्वास था। वह खुद को दुनिया का सबसे ताकतवर इंसान मानता था। उसने सोचा कि वह अपनी किस्मत खुद बदल सकता है।

ज्योतिषियों की भविष्यवाणी

जब राजा का जन्म हुआ तो ज्योतिषियों ने बहुत कुछ अनुमान लगाया। पहले तो उन्होंने कहा कि वह बड़ा होकर एक महान योद्धा और एक बहादुर विजेता बनेगा। फिर कहा कि वह एक बाघ के कारण मर जाएगा।

टाइगर किंग का बड़ा होना

“जंग जंग बहादुर” उर्फ “द टाइगर किंग” का पालन-पोषण एक भव्य तरीके से हुआ। हर दूसरे शाही राजकुमार की तरह, उनका बड़ा होना असाधारण था। उनके अंग्रेजी जीवन में एक अंग्रेजी गाय का दूध पीना, एक अंग्रेज से अंग्रेजी पढ़ना और अंग्रेजी फिल्में देखना शामिल था। यहां तक कि उनका पालन-पोषण एक अंग्रेजी शासन द्वारा भी किया गया था। बीस साल की उम्र में उन्हें राजा की जिम्मेदारी दी गई थी।

टाइगर हंट शुरू 

राजा जानता था कि किसी की जान बचाने के लिए कोई गाय को भी मार सकता है। इसलिए जब पवित्र पशु गाय को मारा जा सकता है तो वह बाघों को भी मार सकता है।

उसने अपनी रक्षा के लिए एक बाघ को मारने का फैसला किया। प्रतिबंदपुरम में बहुत सारे जंगल थे। इस प्रकार उन्होंने आसानी से अपना बाघ हत्या अभियान शुरू कर दिया।

उसने पहले बाघ को आसानी से मार डाला और बहुत खुश हुआ। फिर उसने ज्योतिष को बुलाया और कहा कि उसने सफलतापूर्वक एक बाघ को मार डाला है। ज्योतिषी ने कहा था कि वह 99वें बाघ को सफलतापूर्वक मार सकता है। लेकिन उनकी मौत का कारण 100वां बाघ होगा। 

ज्योतिषी ने यह भी कहा कि वह अपने गुच्छे को काटकर अपनी किताब को जला देगा। अगर राजा 100वें बाघ को मार सकता है।

राजा ने अपने राज्य में अन्य सभी के लिए बाघ के शिकार पर प्रतिबंध लगा दिया। वह अकेला था जिसने बाघों को मारा था। उन्होंने शपथ ली कि वह और 100 बाघों को मारने के अपने मिशन को पूरा करने के बाद ही अन्य मामलों पर ही ध्यान देंगे। 

जब उसकी गोलियां लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकीं तो वह बाघ से नंगे हाथ लड़ा। वह हमेशा बाघ के खिलाफ जीता। 

ब्रिटिश अधिकारी के बारे में 

जब एक उच्च पदस्थ ब्रिटिश अधिकारी प्रतिबंदपुरम में एक बाघ का शिकार करना चाहता था। उन्हें शिकार का शौक था। क्युकी राजा ने पहले ही बाघ के शिकार पर प्रतिबंध लगा दिया था, इसलिए उसे शिकार करने की अनुमति नहीं मिली थी। राजा ने उसे मरे हुए बाघ के साथ फोटो खिंचवाने की अनुमति भी नहीं दी।

इसके बजाय राजा ने कोलकाता की एक प्रसिद्ध आभूषण की दुकान से हीरे की पचास अंगूठियां मंगवाई। उसने उन सभी अंगूठियों को उस ब्रिटिश अधिकारी की पत्नी के पास भेज दिया।

महिला अंगूठियों से प्रभावित हुई और उसने उन सभी को अपने पास रख लिया। राजा ने सोचा कि वह उनमें से एक या दो को चुन सकती है। हालांकि उन्हें इस कारण से तीन लाख का निवेश करना पड़ा, लेकिन वे खुश थे कि सब कुछ ठीक हो गया।

 नई समस्या

 राजा को एक नई समस्या का सामना करना पड़ा। उसने लगभग सत्तर बाघों को मार डाला था। प्रतिबंदपुरम में बाघ सभी मारे गए थे। 

इसलिए राजा ने अपने मंत्री को बुलाकर एक सूची बनाने को कहा। सूची में सारे राज्य से राजकुमारी के नाम और उनके पास मौजूद बाघों की संख्या होनी चाहिए। 

मंत्री ने उनके निर्देशों का पालन किया और राजा के लिए राजकुमारी को ढूंढ लिया। राजा ने उस लड़की से शादी कर ली। उसके बाद जब भी वह अपने ससुराल जाता वह हर बार सात बाघों को मार डालता। 

इस तरह निन्यानवे बाघों को सफलतापूर्वक मार डाला। 

100वां बाघ 

99वें बाघ के मारे जाने के बाद राजा आखिरी बाघ को मारने के लिए बेताब था। उसने सोचा कि 100वें बाघ को मारने के बाद वह शिकार करना बंद कर देगा। यहां तक कि उनके ससुराल वाले सभी बाघों की आबादी खत्म हो गई। इसलिए वह इस बात से दुखी थे। 

उसका इंतजार खत्म हो गया क्योंकि उसने कुछ अफवाहों को आहत किया और समझा कि उसके राज्य में एक बाघ है। लेकिन राजा को बाघ आसानी से नहीं मिला। वह दिन-ब-दिन बाघ की तलाश में मायूस होता जा रहा था। 

उनकी नाराजगी ने कर्मचारियों को निलंबित कर दिया और उन्हें धमकी भी दी। इस प्रकार उनके एक मंत्री ने सर्कस से एक बाघ खरीदा और उसे जंगल में छोड़ दिया जहां राजा शिकार करने गया था।  

बाघ को देखकर राजा प्रसन्न हुआ। उसने बाघ को गोली मार दी। लेकिन वह शॉट चूक गया और उसे एहसास नहीं हुआ कि बाघ बेहोश हो गया है। उसके कर्मचारियों ने यह समझा और चुपके से बाघ को मार डाला। राजा को लगा कि उसने 100वें बाघ को मार दिया है और जश्न मनाने लगा। 

लकड़ी का बाघ

राजा ने अपने बेटे के तीसरे जन्मदिन के लिए एक लकड़ी का बाघ खरीदा। वो अपने बेटे के साथ लकड़ी के बाघ के साथ खेल रहा था। खेलते समय एक लकड़ी की हजामत उनके दाहिने हाथ से चिपक गई। उसने तुरंत उसे बाहर निकाला और खेलना जारी रखा। 

लकड़ी की इस हजामत से चार दिनों के भीतर राजा के दाहिने हाथ में गंभीर संक्रमण हो गया।

उसकी हालत बिगड़ने पर तीन सर्जनों को बुलाया गया। उन्होंने उस पर ऑपरेशन करने का फैसला किया।

लेकिन यह ऑपरेशन राजा की जान नहीं बचा सका। राजा मर गया।  

अंत में नियति की जीत : The Tiger King Summary In Hindi

तकनीकी रूप से यह लकड़ी का बाघ 100वां बाघ निकला। लकड़ी के बाघ ने उसकी जान ले ली। राजा ने अपनी जान बचाने की पूरी कोशिश की। लेकिन नियति ने सब कुछ जीत लिया। 

ज्योतिषी की बात सच निकली। इससे पता चलता है कि हम कभी भी नियति से ज्यादा शक्तिशाली नहीं हो सकते।

और पढ़े :

Bharat Is My Home Question Answer And Summary In Hindi

Think And Grow Rich Summary In Hindi

The Power Of Your Subconscious Mind Summary In Hindi | Apke avchetan man ki shakti

My Grandmother’s House Summary In Hindi & English (Full analysis)

A Letter To God Summary In Hindi