Home » Sweetest Love I Do Not Goe Summary In Hindi

Sweetest Love I Do Not Goe Summary In Hindi

Sweetest Love I Do Not Goe Summary In Hindi

नमस्कार दोस्तों, यह लेख आपको जॉन डोने द्वारा लिखी गई कविता “Sweetest love I do not goe” का सारांश प्रदान करेगा।

जॉन डोने

जॉन डोने एक प्रसिद्ध कवि, विद्वान, सैनिक और सचिव थे। उनकी रचनाओं में सॉनेट्स, प्रेम कविताएँ, धार्मिक कविताएँ, गीत, व्यंग्य आदि शामिल हैं। उनकी कविताओं में लाक्षणिक अर्थ थे।  

Poem Name Sweetest love I do not goe
Class 12
Author John Donne

कविता का केंद्रीय विचार

अपने प्रियजन के साथ बिदाई करना हमेशा कठिन होता है। हालांकि दो दिल कभी भी एक-दूसरे से दूर नहीं हो सकते। 

मूल रूप से यह कविता भी इसी विचार को व्यक्त करती है। यहां कवि अपनी पत्नी को समझाता है कि उसे अपने काम के लिए जाना है और जल्द ही वापस आ जाएगा। कविता के अंत में उन्होंने अपनी पत्नी से कहा कि सच्चे प्रेमी कभी भी एक दूसरे से अलग नहीं होते हैं। वे मृत्यु के बाद भी स्वर्ग में मिलते हैं। 

स्पष्टीकरण

 

छंद एक

 

कविता के पहले छंद में कवि अपनी पत्नी को समझाता है कि वह इसलिए नहीं जा रहा है क्योंकि वह उससे थक गया है। वह यह भी कहता है कि वह भी नहीं जा रहा है क्योंकि यह दुनिया उसे एक बेहतर प्यार दे सकती है।

 

उपरोक्त दो बातों के साथ उसने अपनी पत्नी को समझाने की कोशिश की कि वह उससे थक नहीं रहा है और यह भी कहा कि वह उसके लिए सबसे अच्छी है। उसे उससे बेहतर कोई नहीं मिल सकता। 

 

वह सोचता है कि जैसे उसे एक दिन मरना ही है, वह अपने प्रेमी से अलग हो जाएगा। इसलिए, उसने अपनी पत्नी से यह मान लेने के लिए कहा कि वह मर चुका है। 

 

कवि यह बताने की कोशिश करता है कि वह अपनी पत्नी के कारण जीवित है। पत्नी से अलग होना मृत्यु के समान है। साथ ही मृत्यु के बाद वे एक दूसरे से मिल सकते हैं। 

छंद दो 

इस दूसरे छंद में कवि सूर्य की तुलना उसके साथ करता है। उन्होंने कहा कि सूरज रोज डूबता है और अगले दिन भी उगता है। वैसे ही वह भी वापस आएगा। 

 

सूर्य को वापस आने की कोई इच्छा नहीं होती है और उसे लंबी दूरी तय करनी पड़ती है लेकिन वह वापस आ जाता है। जबकि कवि को वापस आने की बड़ी इच्छा होती है और उसे कम दूरी तय करनी पड़ती है। इस प्रकार, वह सूर्य से बहुत पहले वापस आ जाएगा। 

 

वह कहता है कि उसके पास सूर्य से कहीं अधिक उत्तेजना और प्रेम की शक्ति है। तो, वह तेजी से लौटेगा। 

छंद तीन

इस छंद में कविता जीवन की कुछ बड़ी समस्याओं पर केंद्रित है। उन्होंने कहा कि मानवीय शक्तियां बहुत कमजोर होती हैं। हमारे जीवन के अच्छे समय में एक घंटा भी नहीं जोड़ा जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि हम उस एक घंटे में जा नहीं सकता जो अतीत में खो गया था। 

 

कवि दिखाता है कि हम सब इतने कमजोर हैं कि हम अपनी समस्याओं को केवल ताकत ही दे सकते हैं। हमारे बुरे वक्त में हम समस्या पर काबू पाने की बजाय उससे ज्यादा उलझे रहते हैं। मानो हम सिर्फ अपनी समस्याओं को विकसित करना सिखाते हैं। 

छंद चार

यदि कवि की पत्नी विलाप करती है। उसके विलाप न केवल वह गहरी सांस है जिसे वह छोड़ती है। यह वह हवा होगी जो उसकी आत्मा को उड़ा सकती है। यहाँ, इन पंक्तियों में कवि यह समझाने की कोशिश करता है कि वह उसकी आत्मा और शरीर के भीतर मौजूद है। इस प्रकार, उसकी सांस उसकी आत्मा को भी बाहर निकाल सकती है। 

 

कवि कहता है कि जब उसका प्रिय रोता है तो उसका खून नष्ट हो सकता है। इससे पता चलता है कि कवि अपनी पत्नी से इतना प्यार करता है कि वह उसके आंसू नहीं सह सकता। उसके आंसू उसके खून के बराबर लगते हैं।  

 

बाद की पंक्तियों में कवि ने हमें बताया कि उसके लिए उसे नुकसान पहुंचाना संभव नहीं है। जैसे प्यार करने वाला कभी नुकसान नहीं पहुंचाता। इस प्रकार वह इससे यह निष्कर्ष निकालने की कोशिश करता है कि उसकी नकारात्मक सोच और उसकी अवसादग्रस्त रवैया ही उसका समस्याओं का एकमात्र कारण है। 

 

इस छंद में कवि यह चित्रित करने की कोशिश करता है कि प्रेमी फूलों के बीच काँटे बन सकते हैं। 

छंद पांच 

कविता का अंतिम छंद कवि के साथ शुरू होता है। इसमें कवि अपनी पत्नी से अनुरोध करता है कि वह यह न सोचें कि उसके साथ कुछ भी बुरा हुआ है। उनका कहना है कि अपने भाग्य के लिए वे एक दूसरे से दूर हो सकते हैं। वह भयभीत सकती है। लेकिन उसे चिंता करने की कोई बात नहीं है क्योंकि वे हमेशा अपनी आत्मा से जुड़े रहते हैं। 

 

कवि हमें संदेश देता है कि मृत्यु भी उन्हें अलग नहीं कर सकती। वे जीवन भर साथ रहे। इस प्रकार, वे अपने दिल से जुड़े हुए हैं। मरने के बाद भी ये एक दूसरे से जुड़े रहेंगे। 

 

निष्कर्ष

इस कविता पर निष्कर्ष निकालने के लिए, हमें यह कहना होगा कि प्रेम का विषय कविता पर हावी है। प्रेम शाश्वत और आध्यात्मिक है। यह ब्रह्मांड के भीतर एक प्रकार की ऊर्जा है। इस प्रकार मृत्यु भी दो प्रेमियों को अलग नहीं कर सकती है, इसलिए किसी को भी अधिक सोचना नहीं चाहिए और अपने हृदय में निराशावाद को धारण करना नहीं चाहिए। क्योंकि उनके अंदर की नकारात्मकता उसके प्रेमी को नुकसान पहुंचा सकती है। 

 

साथ ही प्रेमी के साथ अस्थायी रूप से बिदाई के अलावा जीवन में और भी बड़ी समस्याएं हैं। ऐसी समस्याएं हैं जिन पर हम नियंत्रण नहीं कर सकते। हालाँकि प्यार सबसे कठिन समय में भी साथ दे सकता है।

और पढ़े : My Mother At Sixty Six Summary In Hindi And English

A House Is Not a Home Class 9 Summary in Hindi & English

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *