[पढाई में मन लगाने के मंत्र] Padhai Me Man Kaise Lagaye

Padhai me man kaise lagaye, पढाई में मन लगाने के मंत्र, पढाई में मन नहीं लगता तो क्या करना चाहिए, देर रात तक पढाई कैसे करे, बच्चे का पढाई में मन कैसे लगाए, lockdown me padhai man kaise lagaye.

बच्चो के लिए पढाई में मन लगाना बहुत मुश्किल है। आजकाल के युवाओ में भी बहुत ये समस्या आ रही है। क्युकी सही में इंटरनेट का इतना ज्यादा उपयोग बढ़ गया है तो सभी घर में बैठके मोबाइल से ही ऑनलाइन पढाई कर रहे है। और हर चीज़ का सही और गलत इस्तेमाल भी होता है। मोबाइल का भी दोनों प्रकार का इस्तेमाल हो रहा है। मैं एक उदहारण बहुत देता हु – ‘ माचिस का ‘ , एक माचिस से दिया भी जलाया जा सकता है और घर भी। ठीक उसी तरह युवाओ में मोबाइल और इंटरनेट को लेकर इतना ज्यादा पागलपन चढ़ा है की लोग पढ़ना भूल रहे है धीरे धीरे।

आज इस पोस्ट में आपको बताया जायेगा की पढाई में मन कैसे लगाए? इसके साथ ये भी बताया जाएगा की पढाई करते समय कैसे बाकी चीज़ो से दूरी बरक़रार रखे। हमें यकीन है अगर ये बातें आप पढ़ेंगे और आज से ही अनुसरण करेंगे तो आपको कोई परिशानी नहीं आएगी। पढाई कठिन है चाहे आप हाई स्कूल में पढ़ते है या आप कोई डिग्री कर रहे है। पर कुछ बातें है जो ध्यान रखने से पूरा मन पढाई में लग जायेगा।

कितने समय तक पढाई करनी चाहिए ?

पढाई करने का समय एक ब्यक्ति से दूसरे ब्यक्ति में भिन्न होता है। पढाई याद रखने के लिए IQ यानि बुद्धि इस्तेमाल होता है। सब पाठको का बुद्धि एक जैसा नहीं होता। इसीलिए जो एक चतुर बुद्धि वाले पाठक 1 घंटे में पढ़ लेता है वो कम बुद्धि वाले पाठक 2 घंटे समय लगता है।

इंडिया में हुए एक सर्वे के मुताबिक यहाँ की बच्चे औसतन दैनिक 3 घंटे पढ़ते है जो की कम ही है अगर देखा जाये। शायद ये बात स्कूल के बच्चो को पता ना चले। जब बच्चे कॉलेज में या उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए जाते है तब उसको समय कम ही लगता है।

औसतन एक बच्चे को 6 घंटे पढाई करनी चाहिए। और अगर वो उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे है तब 8 घंटा एक बच्चे के लिए बिलकुल सही समय है। क्युकी पढाई के अलावा भी एक इंसान को और भी बहुत कुछ चीज़े करना होता है।

याद रखे, सिर्फ पढाई ही नहीं आपके स्वस्थ जीवन भी जरुरी है, वर्ण आपकी सारी म्हणत बेकार हो जाएगा। इसीलिए हर सुबह उठकर एक रूटीन को अनुसरण करना पड़ेगा। हमारे जीवन में ऐसा दिन आता है जब हम रूटीन से थोड़ा बिगड़ जाते है। पर वो ध्यान रखना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

छात्रों का मन पढाई में क्यों नहीं लगती है ? Why most students fail to concentrate on their study?

मैं यहाँ कोई भी टोटका नहीं बताने वाला आपको। सिर्फ काम की चीज़े बताया जायेगा। दोस्तों पढाई करने के लिए सबसे उपयुक्त समय है सुबह। बहुत सारी छात्रों रात भर पढाई करते है। वो भी सही है, पर ये भी ख्याल रक्खे की तबियत ना बिगड़े। रात जागने वाले इंसान को पेट की बीमारी होती रहती है।

इसीलिए शिक्षक गुरुओ का कहना है सुबह उठके पढाई सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है।

आज के इस डिजिटल जमाने में पढाई से मन हैट जाने का एक साधारण सा कारन है मन का बिचलित होना। हममे से सभी का मन किसी ना किसी चीज़ो पर बिचलित हो जाता है।

हमने एक सर्वे किया ऑफलाइन पढाई में बच्चो के साथ और एक रिपोर्ट तैयार किया आपके लिए :

why people fail concentrating in studies?

तो दोस्तों हमारे सर्वे रिपोर्ट बिलकुल आपके सामने है। छात्रों का मन पढाई में नहीं लगने का कारन है :

  1. सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट
  2. ऑनलाइन गेम
  3. परिवार और दोस्त
  4. अन्य

पढाई करने से पहले इस चीज़ो का ध्यान रखे

सबसे पहले पिछले हैडिंग में मैंने जो भी चीज़ो के बारे आपको जानकारी दी है उससे आपको दूर रहना है। उसमे से भी कुछ चीज़ है जिसको आपको पुरे ध्यान में रखना चाहिए:

एक रूटीन को फॉलो करे और बहुत जरुरत ना पड़ने पर उस रूटीन से बाहर मत जाये।

पढाई करते समय मोबाइल, कंप्यूटर, सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम से दूर रहे

आपको जो भी पढाई है वो पूरा करने से पहले उठना नहीं है

आप एक बार में कितनी देर तक एक जगह बैठ सकते हो

आपको क्या पढ़ना है

पढाई में मन लगाने के मंत्र :Padhai me man lagane ka mantra

  • हर दिन ध्यान केन्द्रीभूत करने के लिए मैडिटेशन करे।
  • ज्यादा पढाई जरुरी नहीं है लेकिन क्वालिटी वाली पढाई यानि जब पढाई कर रहे हो तब कोई और काम ना करो – ये ध्यान रहे।
  • अपना एक लक्ष्य बनाये और उसको पाने के लिए खुदको समर्पित कर दे।
  • हर दिन पढाई के लिए अलग समय निर्धारण करें।
  • जहा आप पढाई करते हो वह जगह थोड़ा सा सुनसान हो तो ध्यान लगाने के लिए अच्छा रहता है।
  • दूसरे लोग क्या कर रहे है इसके पीछे मत भागे। खुद पर निर्भर होना सीखें।
  • नोट्स बनाकर पढाई करें।
  • प्रतिदिन अपनी कक्षा की प्रत्येक बिषय को एकबार जरूर पढ़ने की कोशिश करे। रूटीन में प्रत्येक बिषय रहना ही चाहिए।
  • आपका जो भी पसंदीदा बिषय है उस बिषय की पढाई सबसे बोरिंग समय पर करें। इससे उबाऊपन भी कट जाता है।
  • पढाई में डिसिप्लिन यानि अनुशाशन होना आबश्यक है।
  • एक समय पर एक ही काम करें। पढाई करते वक़्त मल्टी-टास्किंग होने की आबश्यकता नहीं होती।
  • परीक्षा आने से पहले हर बिषय की दुबारा संशोधन जरूर करें।
  • ऑनलाइन पढाई अच्छी आदत है अगर आप फेसबुक , इंस्टाग्राम , गेम से दूर रह सकते हो तब।

Conclusion

दोस्तों मैंने आपको इस पोस्ट में जो भी चीज़ बताया वो एक दिन में कर लेना मुश्किल लगेगा। पर हकीकत यही है की हर दिन अभ्यास एक शक्श को परफेक्ट बनता है। इसलिए आज से ही पूरी लगन से पढ़ते रहिये । जल्द ही आपको आपकी मंज़िल मिलेगा।

ये रहा आज की इस पोस्ट की जानकारी। मुझे उम्मीद है आपको ये पोस्ट पढ़के थोड़ा सा अपने अंदर बिश्वास जागृत हुआ होगा। और निचे कमेंट करना मत भूलिए की पढाई में मन लगाने के मंत्र – Padhai Me Man kaise lagaye पोस्ट आपको कैसा लगा।

Also Read:

How to improve your listening skill in Hindi?

Amazing facts in Hindi about Nature

About spring season in Hindi

Leave a Comment