Home » गणित के सूत्र | All Mathematics Formulas In Hindi

गणित के सूत्र | All Mathematics Formulas In Hindi

ganit ke sutra

गणित के सूत्र – All Mathematics Formulas In Hindi के पोस्ट पर आपका स्वागत है। ये पपोस्ट सभी प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने वाले बच्चो को भी काम आएगा । साथ में ये क्लास 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10 के बच्चो के लिए भी है ।

तो अगर आप गणित के सूत्र ढूंढ रहे है तो आप सही जगह पर आये हो । आशा करता हु मैं आपको सारी फार्मूला बता पाउँगा ।

ये भी पढ़े : 500+ General Science Questions Answers In Hindi | विज्ञानं के प्रश्न उत्तर (Quiz)

Ganit ke sutra :

बीजगणित के सूत्र :

1. (α+в)²= α²+2αв+в²
2. (α+в)²= (α-в)²+4αв
3. (α-в)²= α²-2αв+в²
4. (α-в)²= (α+в)²-4αв
5. α² + в²= (α+в)² – 2αв.
6. α² + в²= (α-в)² + 2αв.
7. α²-в² =(α + в)(α – в)
8. 2(α² + в²) = (α+ в)² + (α – в)²
9. 4αв = (α + в)² -(α-в)²
10. αв ={(α+в)/2}²-{(α-в)/2}²
11. (α + в + ¢)² = α² + в² + ¢² + 2(αв + в¢ + ¢α)
12. (α + в)³ = α³ + 3α²в + 3αв² + в³
13. (α + в)³ = α³ + в³ + 3αв(α + в)
14. (α-в)³=α³-3α²в+3αв²-в³
15. α³ + в³ = (α + в) (α² -αв + в²)
16. α³ + в³ = (α+ в)³ -3αв(α+ в)
17. α³ -в³ = (α -в) (α² + αв + в²)
18. α³ -в³ = (α-в)³ + 3αв(α-в)

ट्रिगोनोमेट्री के सूत्र :

ѕιη0° =0
ѕιη30° = 1/2
ѕιη45° = 1/√2
ѕιη60° = √3/2
ѕιη90° = 1
¢σѕ ιѕ σρρσѕιтє σƒ ѕιη
тαη0° = 0
тαη30° = 1/√3
тαη45° = 1
тαη60° = √3
тαη90° = ∞
¢σт ιѕ σρρσѕιтє σƒ тαη
ѕє¢0° = 1
ѕє¢30° = 2/√3
ѕє¢45° = √2
ѕє¢60° = 2
ѕє¢90° = ∞
¢σѕє¢ ιѕ σρρσѕιтє σƒ ѕє¢
2ѕιηα¢σѕв=ѕιη(α+в)+ѕιη(α-в)
2¢σѕαѕιηв=ѕιη(α+в)-ѕιη(α-в)
2¢σѕα¢σѕв=¢σѕ(α+в)+¢σѕ(α-в)
2ѕιηαѕιηв=¢σѕ(α-в)-¢σѕ(α+в)
ѕιη(α+в)=ѕιηα ¢σѕв+ ¢σѕα ѕιηв.
» ¢σѕ(α+в)=¢σѕα ¢σѕв – ѕιηα ѕιηв.
» ѕιη(α-в)=ѕιηα¢σѕв-¢σѕαѕιηв.
» ¢σѕ(α-в)=¢σѕα¢σѕв+ѕιηαѕιηв.
» тαη(α+в)= (тαηα + тαηв)/ (1−тαηαтαηв)
» тαη(α−в)= (тαηα − тαηв) / (1+ тαηαтαηв)
» ¢σт(α+в)= (¢σтα¢σтв −1) / (¢σтα + ¢σтв)
» ¢σт(α−в)= (¢σтα¢σтв + 1) / (¢σтв− ¢σтα)
» ѕιη(α+в)=ѕιηα ¢σѕв+ ¢σѕα ѕιηв.
» ¢σѕ(α+в)=¢σѕα ¢σѕв +ѕιηα ѕιηв.
» ѕιη(α-в)=ѕιηα¢σѕв-¢σѕαѕιηв.
» ¢σѕ(α-в)=¢σѕα¢σѕв+ѕιηαѕιηв.
» тαη(α+в)= (тαηα + тαηв)/ (1−тαηαтαηв)
» тαη(α−в)= (тαηα − тαηв) / (1+ тαηαтαηв)
» ¢σт(α+в)= (¢σтα¢σтв −1) / (¢σтα + ¢σтв)
» ¢σт(α−в)= (¢σтα¢σтв + 1) / (¢σтв− ¢σтα)
α/ѕιηα = в/ѕιηв = ¢/ѕιη¢ = 2я
» α = в ¢σѕ¢ + ¢ ¢σѕв
» в = α ¢σѕ¢ + ¢ ¢σѕα
» ¢ = α ¢σѕв + в ¢σѕα
» ¢σѕα = (в² + ¢²− α²) / 2в¢
» ¢σѕв = (¢² + α²− в²) / 2¢α
» ¢σѕ¢ = (α² + в²− ¢²) / 2¢α
» Δ = αв¢/4я
» ѕιηΘ = 0 тнєη,Θ = ηΠ
» ѕιηΘ = 1 тнєη,Θ = (4η + 1)Π/2
» ѕιηΘ =−1 тнєη,Θ = (4η− 1)Π/2
» ѕιηΘ = ѕιηα тнєη,Θ = ηΠ (−1)^ηα

1. ѕιη2α = 2ѕιηα¢σѕα
2. ¢σѕ2α = ¢σѕ²α − ѕιη²α
3. ¢σѕ2α = 2¢σѕ²α − 1
4. ¢σѕ2α = 1 − ѕιη²α
5. 2ѕιη²α = 1 − ¢σѕ2α
6. 1 + ѕιη2α = (ѕιηα + ¢σѕα)²
7. 1 − ѕιη2α = (ѕιηα − ¢σѕα)²
8. тαη2α = 2тαηα / (1 − тαη²α)
9. ѕιη2α = 2тαηα / (1 + тαη²α)
10. ¢σѕ2α = (1 − тαη²α) / (1 + тαη²α)
11. 4ѕιη³α = 3ѕιηα − ѕιη3α
12. 4¢σѕ³α = 3¢σѕα + ¢σѕ3α

» ѕιη²Θ+¢σѕ²Θ=1
» ѕє¢²Θ-тαη²Θ=1
» ¢σѕє¢²Θ-¢σт²Θ=1
» ѕιηΘ=1/¢σѕє¢Θ
» ¢σѕє¢Θ=1/ѕιηΘ
» ¢σѕΘ=1/ѕє¢Θ
» ѕє¢Θ=1/¢σѕΘ
» тαηΘ=1/¢σтΘ
» ¢σтΘ=1/тαηΘ
» тαηΘ=ѕιηΘ/¢σѕΘ

ganit ke sutra

परिमिति के सूत्र :

बहुभुज का सूत्र

n भुजा वाले चतुर्भुज का अन्तः कोणों का योग = 2(n -2) × 90°
समबहुभुज के प्रत्येक अंतः कोण = (n – 2) / 2 × 180°
n भुजा वाले बहुभुज के बहिष्कोणों का योग = 360°
बहुभुज के कुछ अंतः कोणों का योग = (n – 2) × 180°
n भुजा वाले समबहुभुज का प्रत्येक अन्तः कोण = [2(n – 2) × 90°] / n
बहुभुज की परिमिति = n × एक भुजा
नियमित षट्भुज का क्षेत्रफल = 6 × ¼√3 (भुजा)²
n भुजा वाले समबहुभुज का प्रत्येक भहिष्यकोण = 360°/n
नियमित षट्भुज का क्षेत्रफल = 3√3×½ (भुजा)²
सम षट्भुज की भुजा = परिवृत्त की त्रिज्या
नियमित षट्भुज की परिमति = 6 × भुजा
n भुजा वाले नियमित बहुभुज के विकर्णो की संख्या = n(n – 3)/2

वृत्त का सूत्र

वृत्त का क्षेत्रफल = πr²
वृत्त का व्यास = 2r
वृत्त की परिधि = 2πr
वृत्त की परिधि = πd
वृत्त की त्रिज्या = √व्रत का क्षेत्रफल/π
वृताकार वलय का क्षेत्रफल = π (R2 – r2)
अर्द्धवृत्त की परिधि = ( π r + 2 r )
अर्द्धवृत्त का क्षेत्रफल = 1/2πr²
त्रिज्याखण्ड एवं वृत्तखंड का फार्मूला
त्रिज्याखण्ड का क्षेत्रफल = θ/360° × πr²
चाप की लम्बाई = θ/360° × 2πr
त्रिज्याखण्ड की परिमिति = 2r + πrθ/180°
वृतखण्ड का क्षेत्रफल = (πθ/360° – 1/2 sinθ)r²
वृतखण्ड की परिमिति = (L + πrθ)/180° , जहाँ L = जीवा की लम्बाई

घन का सूत्र

घन का आयतन = भुजा × भुजा × भुजा = a3
घन का परिमाप = 4 a²
पार्श्वपृष्ठ का एक किनारा = √ ( पार्श्वपृष्ठ का क्षेत्रफल / 4 )
घन का एक किनारा = 3√आयतन
घन का एक किनारा = √ (सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल / 6 )
घन के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = 6a²
घन का विकर्ण = √3 × भुजा

घनाभ का सूत्र

घनाभ का आयतन = l × b × h
घनाभ का परिमाप = 2(l + b) × h
घनाभ के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = 2(lb + bh + hl)
घनाभ का विकर्ण = √(l² + b² + h²)
घनाभ की ऊँचाई = आयतन / ( लम्बाई × चौड़ाई )
घनाभ की चौड़ाई = आयतन / ( लम्बाई × ऊँचाई )
कमरें के चारों दीवारों का क्षेत्रफल = 2h ( l + b )
ढक्कनरहित टंकी का क्षेत्रफल = 2h ( l + b ) + lb
छत या फर्श का क्षेत्रफल = लम्बाई × चौड़ाई

बेलन का सूत्र

बेलन का आयतन = πr2h
बेलन की ऊँचाई = आयतन / πr2
लम्बवृतीय बेलन की त्रिज्या = √ ( आयतन / πh)
खोखले बेलन में लगी धातु का आयतन = πh (R2 – r2 )
बेलन का वक्रपृष्ठ का क्षेत्रफल = 2πrh
बेलन का सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = 2πr ( h + r )
लम्बवृतीय बेलन की ऊँचाई = (बेलन का सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल / 2πr) – r
लम्बवृतीय बेलन का आधार का क्षेत्रफल = πr2

शंकु का सूत्र

शंकु का आयतन = 1/3 πr2h
लम्बवृतीय शंकु की तिर्यक ऊँचाई = √ ( h2 + r2 )
शंकु की ऊँचाई = √ (l2 – r2 )
शंकु की आधार की त्रिज्या = √ (l2 – h2 )
शंकु के वक्र पृष्ठ का क्षेत्रफल = πrl
लम्बवृतीय शंकु के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = πr ( l + r )
शंकु का आधार का क्षेत्रफल = πr2

गोला का सूत्र

गोले का वक्रपृष्ठ का क्षेत्रफल = 4πr2
गोला का आयतन = 4/3 πr3
गोलीय शेल का आयतन = 4/3 π ( R3 – r3 )
गोलीय शेल के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = 4/3 π(R2- r2 )
घन ने सबसे बड़े गोले का आयतन = 1/6 a3
घन में सबसे बड़े गोले का पृष्ठीय क्षेत्रफल = πr 2
गोले में सबसे बड़े घन की एक भुजा = 2R / √3
अर्द्ध गोला के वक्रपृष्ठ का क्षेत्रफल = 2 πr2
किसी अर्द्ध गोला के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल = 3 πr2
अर्द्ध गोला का आयतन = 2/3 πr3

 

निष्कर्ष :

मैं आशा करता हु की ये सारे सूत्र आपके पढाई में काम आये होंगे, पोस्ट को शेयर करना मत भूले ।

और पढ़े : Current Hindi General Knowledge Questions and Answers (1st October, 2021)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *